Tel: 0 9599992888 | email: faceindiamail@gmail.com



Digital Conservation of Indian Art & Artist Archive


Today thousands of artists are working in the field of art and giving art world a new form, and there were thousands of artists who worked for their whole life and created a market of art for us, but how many names do we know and remember, and how much do we know about them. No, only few artist details we can get in some, academy, museum, libraries, books, gallery or websites.

Conservation of art and artist is not an easy task, it's something difficult, but it's possible to conserve the art and artists all around India, under FACE INDIA Foundation project "MY ART HISTORY" has been initiated  by founder Viren K (Virender Kumar) to get store all the information about Indian art and the artist at one place in the world of internet and every artist name should mark in history. We will try to store everything about Indian art and we will try to add history of every artist in our historical project titles as "MY ART HISTORY"

Nowadays everything is becoming digital and in the age of internet it connects you very fast to the world with one click, in the fast growing digital world we need to make our identity, otherwise we will be nowhere in the galaxy of history.

The artist is the first one after nature who create things, Artist is a creator, artist is not the one who can store and keep manage his catalogs, books, exhibition photos, videos and other records for a long time, or maybe for a lifetime, artists are very innocent, kind and pure by heart, artist is just an artist, it's very difficult for an artist to keep maintain his art and exhibition related books, even its difficult to maintain records for galleries and other organizations too. And at the end of the day artist's professional life become for a present time only , or we can say artists live only in present time, he does not get connected with the history.......

We will solve all the archiving problems with our present project "MY ART HISTORY"
Whatever it was, it was a history, whatever is today that will be a history in the future, and whatever will be happening in the future also will be a history.
Whatever we have that is only a history,   History is our present and  our future is from history.
Join FACE India foundation for art, culture and education's "MY ART HISTORY" project and write your own art history and country's art history as well.

भारतीय कला और कलाकार के संग्रह का डिजिटल संरक्षण


आज हजारो कलाकार कला के छेत्र  मैं काम कर रहे है और कला जगत को एक नया रूप दे रहै है, हज़ारो कलाकारों ने अपनी पूरी जिंदगी काम किया और कला जगत के लिए एक व्यवसाय दिया, लेकिन हम उन कलाकारों मैं से कितने नामों को जानते है या फिर हमें उनके नाम याद है, और हम उन कलाकारों के बारे मैं कितना जानते है. नहीं, केवल कुछ ही कलाकारों का विवरण हम प्राप्त कर सकते हैं, जो की किसी न किसी अकादमी, संग्रहालय, पुस्तकालय, किताब, गैलरी या फिर किसी वेबसाइट के माध्यम मिलती है।

कला और कलाकार के संरक्षण में कुछ मुश्किलें है, यह एक आसान काम नहीं है, लेकिन असंभव भी नहीं, यह संभव होगा जब आप अपनी कला के साथ खुद को संरक्षित करने मैं हमारा साथ देंगे, फेस इंडिया के तत्वधान मैं "मेरा कला इतिहास" परियोजना के संस्थापक वीरेन (वीरेंद्र कुमार) के द्वारा पहल की गई है ताकि भारतीय कला और कलाकारों की जानकारी इंटरनेट की दुनिया में एक ही स्थान पर मिले  और भारत के हर एक कलाकार का नाम इतिहास मैं दर्ज हो जाये । हम भारतीय कला के बारे में सब कुछ संरक्षित करने की कोशिश करेंगे, हर कलाकार के इतिहास को जोड़ने की कोशिश करेंगे और यह सब होगा इस ऐतिहासिक परियोजना के जरिये जिसका शीर्षक है "मेरा कला इतिहास"।

आजकल सब कुछ डिजिटल बनता जा रहा है और इंटरनेट के युग में हम केवल एक क्लिक पर दुनिया से तेज़ी से जुड़ जाते है । इस तेज भागते हुई डिजिटल दुनिया मैं हमे अपनी पहचान खुद बनानी होगी, नहीतो हम भविष्य मैं इतिहास के ब्रम्हांड मैं कंही नहीं होंगे। 

प्रकर्ति के बाद कलाकार एक पहला ऐसा इंसान है जो चीजों का निर्माण करता है, कलाकार एक निर्माणकता है, कलाकार बहुत मासूम होता है, नरम दिल और दिल से एकदम शुद्ध, कलाकार केवल एक कलाकार है, कलाकार वो इंसान नहीं जो अपनी कैटलॉग, किताबें, प्रदर्शनी तस्वीरें वीडियो और अन्य अभिलेखों को एक लम्बे समय के लिए या फिर जिंदगी भर संभाल कर रखे, कलाकार केवल काम करना जानता है, यह बहुत मुश्किल है की कलाकार अपनी कला या फिर प्रदर्शनी से सम्बंधित किताबे संभाल कर रखें यहां तक की दीर्घाओं और अन्य संगठनों को भी मुश्किल होता है  कलाकारों के रिकार्ड्स को रखना। और आखिर मैं कलाकार का जीवन केवल वर्तमान तक ही सिमट कर रह जाता है, या फिर हम ये कहा सकते है की कलाकार केवल वर्तमान मैं ही जीता है, हर एक कलाकार इतिहास मैं अपना नाम नहीं जोड़ पाता।

हम अपने वर्तमान परियोजना "मेरा कला इतिहास" के साथ संग्रह की समस्याओं का समाधान करेंगे
जो भी कल तक था वो एक इतिहास था,  जो आज है वो भविष्य मैं एक इतिहास होगा, और जो  भविष्य होगा वो भी एक इतिहास ही होगा।
हमारे पास जो भी है वो केवल एक इतिहास है, इतिहास से ही हमारा  वर्तमान है और इतिहास से ही हमारा भविष्य।
फेस इंडिया फाउंडेशन फॉर आर्ट कल्चर एंड एजुकेशन की "मेरा कला इतिहास" परिजोजना के साथ जुड़े  और अपने कला इतिहास के साथ देश का भी कला इतिहास लिखे।

.........................................................................................................................................

First time in the history of Indian art, a digital conservation of India art & artist archive with online library of artist profiles and exhibition catalogs, And a web portal containing information and history of Indian art & all Indian artists.

FACE INDIA FOUNDATION is a national level trust in India and a center for a foundation dedicated to art, culture, education, environment, road safety and festivals. National service in research and promotion projects for the society of the arts, culture, and education.

FACE INDIA composed of various projects as; online museum, gallery, library, workshops, festivals and numerous projects in the different states of India. The FACE INDIA FOUNDATION credited with national and international projects and specimens in its trust for "the increase and diffusion of knowledge".

To continue with the mission now FACE India has designed a project to store & conserve artist's life history and details, important documents  in all manner with exhibition books, catalogues, brochures, posters, invitation, photos, videos, exhibition openings and other publications, So the very important moments in the art society will be stored very well for always and can be seen on world-wide-web always and view from anywhere anytime.

FACE INDIA has started a project titled as "MY ART HISTORY" to archive & conserve Indian art with artist's works, catalogs & books in digital & e-book format for online Library, Archive & Museum.

To conserve art we have designed "MY ART HISTORY" web portal with the history of Indian art and it schools with the details of artist and others

To archive Artist's history we have gathered artists details and all the important documents related to him, we keep young, senior, contemporary, modern artist  of India and all types of  artist information. we collect books and other information in a soft copy or printed books, we request all artists, gallery, curator, art NGO, societies, promoters and embassies and others to give their art books for archive and always show it worldwide for always.

"MY ART HISTORY" would be the first ever collection & the largest art catalog library and archive in the India of Artist Profiles & Exhibition Catalogs in digital format, This is not only India but the world's first exclusive web portal & digital archive dedicated to visual artists. Catalogues of artist profiles, auctions and exhibitions, trade and collection catalogues, as well as books, periodical, journals and annual reports relating to the gallery & museum collections have been collected without interruption since the independence of India.

We invite all the PhD holders, researchers, scholars and other to join the project and publish their research in the portal, so the maximum number of people can see you and your reach.

A research behind archive of artist documents.   
For an artist his exhibition, profile books and exhibition catalogs are very important in his life and artist works very hard to put up an exhibition and print catalogs and after close of the exhibition all most of his catalogs finish and later on artist keep only few copies of the catalog, Usually artist print 500 to 1000 books and artist distribute all to his publicity and reorganization, after end of exhibition only catalog is one source to remember, but slowly-slowly most of the catalog gets finished and dispose, only few artist and art lover or collector of galleries keep the catalog, but after some year they also dispose of the catalog, In India average life a catalog is not more than 1years, according to a research we found the data for life of a catalog "18% = 1 month", " 47% = 3 months", "23% = 1 year", "9% = 5 years", only "3% = more than 5 years"

So we request all the artists to join the project and after joining "MY ART HISTORY" project artists' documents will be archived for a lifetime and can be accessed anytime and anywhere.

  • "MY ART HISTORY" is not a government or other organization funded project, it's a self funded & nonprofit making under project FACE INDIA TRUST, so we can't commit to financial support to the members.  The project is voluntarily maintained by the experts and professional from the industry and but there are some necessary expenses which cannot ignore, so we appreciate for your "Donation" and support in kind or with annual membership. Catalogs, books and periodicals can be deposited with membership and all publications from the library's collection can be viewed in the reading room & it is free for all. 

Vision & Mission

  • We Encourage  ARTIST to join the project "MY ART HISTORY"

  • To make "MY ART HISTORY" the biggest digital archive for the conservation of India art and showcase the world about artist history and bring all art history information on web, so anyone can get information about our history from anywhere anytime.

  • To preserve today for tomorrow.

  • Collection of all the exhibition books and catalogs from all over India.

  • Collection of all the artists profiles and books from all over India .

  • Spreading educational messages to conserve the print copy in digital format.

  • Books, catalogs and brochures preservation activities and seminars.

Benefits of project

  1. Adding artist name in the directory list of Indian artist for lifelong with individual  web page.

  2. All books, catalog, brochures and publication will be in the library for always & unlimited time period

  3. Any artist, curator or gallery can deposit their books and catalogs for the online library

  4. Anyone can view the your book from any part of the country or the world wide.

  5. Archive section keeps a HIGH-RESOLUTION digital file in off line collection

  6. We maintain your webpage, you don't need to maintain a webpage or library room

  7. Once your book is online so it will be in digital collection for lifetime

  8. If you want to remove or un-publish your book or catalog so you can write an email or contact to the library team anytime

  9. If you become the member of project "MY ART HISTORY", so you will get the membership of FACE INDIA FOUNDATION honorably.

 

 

भारतीय कला के इतिहास में पहली बार, भारतीय कला और कलाकार के संग्रह का डिजिटल संरक्षण
और कलाकार प्रोफ़ाइल और प्रदर्शनी किताब संग्रह की ऑनलाइन पुस्तकालय और एक वेब पोर्टल जिसमे इतिहास और सभी भारतीय कलाकारों की जानकारी जानकारी
मिलेगी

फेस इंडिया फाउंडेशन एक राष्ट्रीय स्तर की गैर सरकारी संस्था हे जो कला, संस्कृति, शिक्षा, पर्यावरण के लिए समर्पित हे और राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कला, संस्कृति और शिक्षा को आगे बढ़ाने लिए अनुसंधान और संवर्धन परियोजनाओं में राष्ट्रीय सेवा के लिए काम करती है।

फेस इंडिया ने विभिन्न परियोजनाओं की रचना की है; ऑनलाइन संग्रहालयों, कला प्रदर्शनी, ऑनलाइन कला प्रदर्शनी, ऑनलाइन पुस्तकालय, कार्यशालाओं और त्योहार, फेस इंडिया ने भारत के विभिन्न राज्यों में कई और परियोजनाओं को पूरा किया है तथा नेशनल और इंटरनेशनल स्तर पर परियोजनाओं को पूरा कर ऐसे उदाहरण दिए है जिसमे "ज्ञान के प्रसार मैं वृद्धि हुई है"

मिशन को जारी रखते हुऐ फेस इंडिया ने कलाकार को इतिहास मैं हमेशा  के लिए याद रखने के लिए और साथ ही साथ प्रदर्शनी पुस्तकों, कैटलाग, ब्रोशर, पोस्टर, निमंत्रण पत्र, तस्वीरें, वीडियो, प्रदर्शनी उद्घाटन और अन्य यादें को संरक्षित करने के लिए एक परियोजना तैयार की गई है, ताकि कलाकार और कला समाज में बहुत महत्वपूर्ण क्षणों को बहुत अच्छी तरह से हमेशा के लिए संग्रहित किया जाएगा और हमेशा के लिए विश्व व्यापी वेब दुनिया पर देखा जा सकेगा I

फेस इंडिया ने कला के संरक्षण और संग्रह के लिए "मेरी कला इतिहास" के रूप में शीर्षक से एक परियोजना शुरू कर दिया है, ऑनलाइन लाइब्रेरी, पुरालेख और संग्रहालय के लिए डिजिटल और ई-पुस्तक प्रारूप में कैटलाग और किताबें को वेबसाइट पर तथा डिजिटल रूप मैं देखा जा सकेगा

कला के संरक्षण के लिए हमने एक वेब पोर्टल तैयार किया है जिसमे भारतीय कला से जुड़े हर एक बात की जानकारी आपको मिलेगी, और साथ हे साथ अन्य नई जानकारियो को भी इनमें जोड़ा जायेगा.

कलाकार के इतिहास को संग्रहीत करने के लिए कलाकारों के विवरण और उससे संबंधित सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को इकट्ठा किया है, हम युवा, वरिष्ठ, समकालीन, आधुनिक भारत के कलाकार के सभी प्रकार की जानकारी रहते हैं। हम संग्रह के लिए उनकी कला की किताबें देने के लिए और हमेशा हमेशा के लिए दुनिया भर में यह दिखाने के लिए सभी कलाकारों, गैलरी, क्यूरेटर, कला गैर सरकारी संगठन, समाज, प्रमोटरों और दूतावासों और अन्य लोगों से अनुरोध करता हैं।, किताबें और एक सॉफ्ट कॉपी में अन्य जानकारी या मुद्रित पुस्तकों इकट्ठा।

"मेरी कला इतिहास" भारत में पहली  डिजिटल स्वरूप में कलाकार प्रोफाइल और प्रदर्शनी कैटलॉग की सबसे बड़ी कला सूची पुस्तकालय और संग्रह होगा, यह न केवल भारत बल्कि दुनिया की पहली विशेष वेब पोर्टल और डिजिटल संग्रह दृश्य करने के लिए समर्पित है। कलाकार प्रोफाइल, नीलामियों और प्रदर्शनियों, व्यापार और संग्रह कैटलॉग, साथ ही किताबें, पत्रिका, पत्रिकाओं और गैलरी और संग्रहालय के संग्रह से संबंधित वार्षिक रिपोर्ट के कैटलाग और भारत की आजादी के बाद की जानकारी एकत्र की  गई है।

हम आमंत्रित करते है सभी पीएचडी धारकों, शोधकर्ताओं, विद्वानों से परियोजना में शामिल होने के लिए और अपनी शोध को प्रकाशित करने के लिए ताकि अधिकतम संख्या मैं लोग आपको और आपकी रिसर्च कार्य को देख सके.

कलाकार दस्तावेजों के संग्रह के पीछे एक शोध।
एक कलाकार के लिए उसकी अपनी प्रदर्शनी, प्रोफ़ाइल की किताबें और प्रदर्शनी कैटलॉग अपने जीवन में बहुत महत्वपूर्ण हैं और कलाकार अपनी प्रदर्शनी लगाने के लिए बहुत मेहनत करता है और प्रिंट कैटलॉग प्रस्तुत करने के लिए बहुत मेहनत से काम करता है और प्रदर्शनी के खत्म होने के बाद उसकी कैटलॉग काफी हदतक खत्म हो जाती है, कलाकार केवल कुछ प्रतियां अपने पास रखता है, आमतौर पर कलाकार ५०० से १०००  किताबें प्रिंट करवाता है और वह अपनी सभी किताबे प्रदर्शनी के दौरान और फिर प्रदर्शनी के बाद अपने प्रचार के लिए दे देता है, और फिर केवल कुछ हे किताबे कलाकार के पास रहती है. प्रदर्शनी की किताबे ही याद करने के लिए एक स्रोत है प्रदर्शनी के अंत के बाद, उसके प्रचार और पुनर्गठन करने के लिए सभी को वितरित, लेकिन धीरे-धीरे सभी किताबे  समाप्त हो जाती है
केवल कुछ कलाकार और कला प्रेमी या दीर्घाओं के कलेक्टर किताबे अपने पास रखते है, लेकिन वह भी कुछ साल बाद वे किताबो को अपनी कलेक्शन से हटा देते है,  एक शोध के अनुसार, भारत मैं औसतन एक कलाकार प्रदर्शनी किताब का जीवन 1 साल से अधिक नहीं है "18%   = 1 महीने "," 47% = 3 महीने "," 23% = 1 साल "," 9% = 5 साल, "केवल" 3% = 5 वर्ष से अधिक "
हम सबी कलाकारों से इस परियोजना मैं शामिल होने की अनुरोध करते है, और  "मेरी कला इतिहास" परियोजना मैं शामिल होने के बाद आपके सभी दस्तावेजो का संग्रह करना हमारा काम होगा, और एक जीवन भर के लिए संग्रहीत किया जाएगा और किसी भी समय और कहीं भी उन किताबो को देकः जा सकेगा।

"मेरी कला इतिहास" सरकार या किसी अन्य संगठन के द्वारा वित्त पोषित परियोजना नहीं है, यह परियोजना फेस इंडिया ट्रस्ट के तहत एक स्व वित्त पोषित और गैर लाभकारी परियोजना है। इसलिए हम सदस्यों को किसी भी प्रकार की वित्तीय सहायता करने का वादा नहीं कर सकते हैं, परियोजना को पेशेवर विशेषज्ञों द्वारा स्वैच्छिक रूप से चलाया जा रहा है, लेकिन कुछ आवश्यक खर्च है जिसको हम अनदेखा नहीं कर सकते, हम सराहना करते हैं  आपके  "दान" और समर्थन  या फिर वार्षिक सदस्यता की, संग्रह मैं कैटलॉग, पुस्तकों और पत्रिकाओं को सदस्यता के साथ जमा किया जा सकता है और पुस्तकालय के संग्रह से सभी प्रकाशनों को मुफ्त रूप से पड़ सकते है।

विजन और मिशन

  • हम कलाकार को "मेरा कला इतिहास" परियोजना में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करते है

  • "मेरी कला इतिहास" को भारत कला के संरक्षण की सबसे बड़ी डिजिटल संग्रह बनाना  और कलाकार के इतिहास को इंटरनेट की दुनिया को दिखाना ताकि को भी कहीं भी किसी भी समय से हमारे इतिहास के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं तो,

  • कल के लिए आज को सरक्षित करना।

  • भारत भर से सभी प्रदर्शनी किताबें को संग्रह करना

  • भारत भर से सभी कलाकारों प्रोफाइल और पुस्तकों का संग्रह।

  • प्रिंट प्रतिलिपि को डिजिटल स्वरूप संरक्षित करने का संदेश फैलाना।

  • टॉक शो और सेमिनार्स के द्वारा पुस्तकों और ब्रोशर को डिजिटल संरक्षण मैं सुरक्षित करना।.

Benefits of project

  1. कलाकार का नाम व्यक्तिगत वेब पेज के साथ आजीवन के लिए भारतीय कलाकार की निर्देशिका सूची में लिखना।

  2. सभी पुस्तकें, सूची, ब्रोशर और प्रकाशन को हमेशा और असीमित समय अवधि के लिए पुस्तकालय में रहेगी

  3. कोई भी कलाकार,  क्यूरेटर या गैलरी ऑनलाइन पुस्तकालय के लिए उनकी पुस्तके जमा कर सकते हैं

  4. कोई भी देश के किसी भी भाग से या पूरी  दुनिया से आपकी किताब देख सकते हैं।

  5. अभिलेखागार विभाग ऑफ लाइन संग्रह में एक हाई रेजुलेशन की डिजिटल फाइल रहता है

  6. हम आपके वेबपेज की देखरेख करते है, आपको वेबपेज या पुस्तकालय कक्ष बनाए रखने की जरूरत नहीं है

  7. अगर आप अपनी किता को लाइब्रेरी से निकलना चाहते है तो आप हमें एक ईमेल लिखें या  फिर पुस्तकालय टीम को संपर्क कर सकते हैं

  8. आप  "मेरी कला इतिहास" इस परियोजना के सदस्य बन जाते हैं, तो आपको सम्मानजनक ढंग से फसइंडिया  फाउंडेशन की सदस्यता मिल जाएगी ।

  9. एक बार आपकी किताब ऑनलाइन आगई तो फिर वह किताब हमेसा के लिए डिजिटल  संग्रह मैं रहेगी

 

 

 

  •  


  • FACE INDIA, Foundation fo Art Culture & Education

    FACE India (Foundation for art, Culture & Education) establish in 2007, registered U/S 12AA, read with section 12A of income tax act, 1961, registered UNDER SECTION 80G(5)(VI) OF INCOME TAX ACT. 1961
    A Trust and non profit making organization to spread awareness in the society about art, culture, education and other social activities.

    www.faceindia.org.in

  • Library of Artist Profiles & Exhibition Catalogs

    Face India has started a campaign "SAVE CATALOG, SAVE MY ART" so we can collect and preserve it in digital books format  for Archive and Library.

    so to preserve artist book and catalog we are collecting and approaching artist to send a soft or print copy to us, we request all artist, gallery, curator, art NGO, promoters and embassies and others to make their art books live for lifetime and show their book world wide online.

  • ART TIMES NETWORK

    ATN (Art Times Network) is a team of FACE India & Art Times members who is associated with us in different projects as a: Trustee, Adviser, Director,  Manage, Artist, Coordinator, Researcher Volunteer, Assistant, Expert, Teacher, Student, Helper, Photographer & others